केजरीवाल का मंत्रियों संग LG हाउस पर धरना छठे दिन भी जारी, ट्वीट कर कहा- ईद मुबारक

0

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी कैबिनेट के तीन मंत्रियों का केंद्र सरकार से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिलने के बावजूद उपराज्यपाल अनिल बैजल के कार्यालय में धरना शनिवार को भी जारी है। सोमवार शाम से शुरू हुआ धरना शनिवार को छठे दिन में प्रवेश कर गया। अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन और गोपाल राय उपराज्यपाल अनिल बैजल के आधिकारिक निवास व कार्यालय राज निवास में सोमवार शाम से धरना दे रहे हैं। कहा जा रहा अगर मांगें नहीं पूरी हुईं तो रविवार से पीएम आवास के सामने धरना देने की चेतावनी दी गई है। इस बीच शनिवार को सुबह अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर लोगों को ईद की मुबारकबाद दी है। हालांकि, ट्वीट में रोज की तरह धरने को लेकर कोई इशारा नहीं किया गया है। 

बता दें कि केजरीवाल अपने दो मंत्रियों (मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन) के साथ अपनी तीन मांगों को लेकर धरने पर हैं, जिनमें दिल्ली प्रशासन में काम कर रहे IAS अधिकारियों को उनकी हड़ताल खत्म करने का निर्देश देना और गरीबों को उनके दरवाजे पर जाकर राशन वितरित करने के सरकार के प्रस्ताव को मंजूरी देने व उन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग शामिल है।

वहीं, मंगलवार से भूख हड़ताल पर बैठे स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी ट्वीट कर पीएम मोदी से इस मामले पर हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है। सत्येंद्र जैन ने ट्वीट कर कहा, ‘हम चार रातों से उपराज्यपाल के कार्यालय में इंतजार कर रहे हैं लेकिन वह केवल चार मिनट का समय तक नहीं निकाल पा रहें। उम्मीद है कि प्रधानमंत्री इस मामले पर हस्तक्षेप करेंगे।’ 

उधर, सीएम केजरीवाल के ऑफिस के स्वागत कक्ष में भाजपा विधायकों का धरना भी जारी है। इसमें आम आदमी पार्टी के बाग़ी विधायक कपिल मिश्रा भी भाजपा विधायकों के साथ धरना दे रहे हैं।  

अनशन तुड़वाने को हो रही कोशिशः मनीष सिसोदिया

इससे पहले पिछले पांच दिन से एलजी के घर धरने पर और तीन दिन से अनशन पर बैठे डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को आशंका जताई कि उन्हें जबरन एलजी हाउस से बाहर निकाला जा सकता है। एलजी हाउस के बाहर एंबुलेंस और कई डॉक्टरों के पहुंचने के बाद सिसोदिया ने ये आशंका जताई है। मनीष सिसोदिया ने कहा कि अगर हमें निकाला गया तो मैं पानी भी छोड़ दूंगा।

वहीं, इस मुद्दे पर अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके कहा है- ‘हमें जबरन निकालने की योजना क्‍यों बन रही है? हमें सिर्फ 4 दिन हुए हैं। अनशन पर बैठे सतेंद्र जैन और मनीष सिसोदिया बिल्‍कुल फिट हैं और वे दिल्‍ली के लोगों के लिए लड़ रहे हैं।’ 

शुक्रवार रात को भी इस मुद्दे पर केजरीवाल ने ट्वीट करके कहा- ‘जनता के हक़ के लिए लड़ने पर एक चुने हुए मुख्यमंत्री के साथ ये पूरी व्यवस्था इस क़िस्म का व्यवहार कर सकती है तो एक आम आदमी का रोज़ाना क्या हाल होता है, आप सोच सकते हैं। इसी व्यवस्था को बदलने का संकल्प है। लड़ेंगे। जीतेंगे। शुभ रात्रि।’